+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

अब ‘मधुशाला’ के उर्दू अनुवादक ने महानायक को लौटाए 1100 रुपये

अमिताभ बच्चन इन दिनों मीडिया के सुर्ख़ियों में बने हुए हैं। लेकिन उनके सुर्खियों में आने की वजह कोई बॉलीवुड फिल्म नहीं, बल्कि वह कानूनी नोटिस है जिसके खौफ से लोग उन्हें मुआवजे के तौर पर अपना चेक भिजवा रहे हैं।

पिछले दिनों मशहूर कवि कुमार विश्वास ने हरिवंश राय बच्चन की कविता से हुए ३२ रूपये की कमाई अमिताभ बच्चन को लौटाई थी। नया मामला है उर्दू साहित्यकार फ़ारुक़ अर्गली का है। फ़ारुक़ अर्गली ने अमिताभ बच्चन को ग्यारह सौ रुपये का चेक भेजकर उनसे माफी मांगी है। उन्होंने अमिताभ के पिता हरिवंश राय बच्चन की कविता का उर्दू रूपांतरण किया था।

एक न्यूज़ पोर्टल से बातचीत में फ़ारुक़ अर्गली ने बताया कि उन्हें मुधशाला को उर्दू में रूपांतरण करने के लिए कहा गया था। उन्होंने प्रकाशक के कहने पर हरिवंश राय बच्चन जी की मधुशाला का उर्दू रूपांतरण कर दिया। जिससे उन्हें ग्यारह सौ रुपये की कमाई हुई थी।

अर्गली ने आगे बताया कि कुमार विश्वास को अमिताभ की ओर से कानूनी नोटिस की बात सुनकर अब उन्हें भी ये डर सताने लगा है कि कहीं अगला नोटिस उन्हें ही न भिजवा दें। ऐसे में उन्होंने मांगी मांगते हुए अमिताभ बच्चन के नाम से ग्यारह सौ रुपये का चेक भेज दिया।

अर्गली ने कहा चूंकि बच्चन को सदी का महानायक कहा जाता है लेकिन हरिवंश राय बच्चन की कविता को लेकर जिस तरह का काम किया है वह बहुत छोटा है, क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि जब ऊंचाईयां बहुत ज्यादा होती हैं तो वहां पर गहराई ज्यादा होती है।

मालूम हो कि कवि हरिवंश राय बच्‍चन की कविता ‘नीड़ का निर्माण’ का पाठ करते हुए डॉ कुमार विश्‍वास ने एक वीडियो बनाया। उन्‍होंने अपने यूट्यूब चैनल पर वीडियो अपलोड कर लिंक ट्विटर पर साझा किया तो इससे अमिताभ बच्‍चन नाराज हो गए।

अमिताभ बच्चन ने इसे अपने पिता की बौद्धिक संपदा के अधिकार का उल्‍लंघन बताते हुए उस पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी दे दी। अमिताभ की तरफ से दी गई कानूनी चेतावनी के बाद कुमार विश्‍वास ने वीडियो हटा लिया और ट्वीट कर जवाब दिया कि इस कविता से उन्हें कुल 32 रुपये की कमाई हुई है जो वह बच्‍चन को भिजवा रहे हैं।

Related Posts

Leave a Reply

*