+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

आतंकवाद से 6 गुना ज्यादा जानें ले रहा है इश्क़-मुहब्बत

भारत में मौतों को लेकर एक चौकाने वाला आंकड़ा सामने आया है। इसके मुताबिक भारत में जितनी मौतें प्यार की वजह से होती हैं उतनी मौतें आतंकी घटनाओं से भी नहीं होती। इन आंकड़ों के मुताबिक पिछले 15 वर्षों में भारत में आतंकवाद से ज्यादा मौत प्यार के चलते हुईं। इसके साथ ही हत्याएं, हत्याओं की कोशिश और अपहरण के मुकदमों की वजह भी प्यार ही रहा। एकतरफा प्यारा, प्यार में शादी या परिवार की नाराजगी इसकी बड़ी वजह रही।

इन आकंड़ों के मुताबिक प्यार में कामयाब न होने वाले और दूसरी वजहों के चलते करीब 79,189 लोगों ने मौत को गले लगाया। प्यार के चलते 38,585 मामलों में लोगों ने हत्या और गैर-इरादतन हत्या जैसे जघन्य अपराधों को अंजाम दिया। जबकि इस दौरान आतंकवादी घटनाओं में 20,000 लोगों की मौत हुई। ये आकंड़े साल 2001 से 2015 के बीच के है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक एक और चौंकाने वाला आंकड़ा सामने आया है।  इन 15 सालों में किडनैपिंग के 2.6 लाख केस ऐसे दर्ज किए गए, जिनमें महिला के अपहरण की वजह उससे शादी रचाने का इरादा था।

खबर के मुताबिक भारत में हर दिन 7 हत्याएं, 14 आत्महत्याएं और 47 अपहरण के पीछे की वजह हैरान करने वाली हैं। जिसमें प्यार के चलते परिवार की नाराजगी, एकतरफा प्यार और शादी के इरादा बड़ी वजह रहीं। दूसरी तरफ इन 15 सालों में आतंकवादी घटनाओं में 20,000 लोगों की मौत हुईं। इनमें सुरक्षा बल और आम नागरिक दोनों शामिल हैं।

आत्महत्या के मामलों में पश्चिम बंगाल शीर्ष पर है, जबकि राज्य के 2012 के आंकड़े नहीं मिल सके हैं। सूबे में बीते 14 सालों में 15,000 खुदकुशी के मामलों की वजह प्रेम संबंध थे। प्यार में जान देने वालों में दूसरे नंबर पर तमिलनाडु है, जहां प्रेम प्रसंगों के चलते 9,405 लोगों ने 15 साल के दौरान मौत को गले लगा लिया।

इनके बाद असम, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और मध्य प्रदेश का नंबर आता है। इन सभी राज्यों में 5,000 से अधिक लोगों ने प्यार में जान दे दी।

Bihar Khoj Khabar
About the Author
Bihar Khoj Khabar is a premier News Portal Website. It contains news of National, International, State Label and lots More..

Leave a Reply

*