+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

इंटर पास अविवाहित लड़कियों को‍ रू10000, ग्रेजुएट होने पर 25000, जानिए क्या है यह योजना

बिहार सरकार ने लड़कियों के समग्र विकास के लिए ‘मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना’शुरू की है। इसमें बाल विवाह को रोकने के लिए प्रोत्साहन राशि देने के साथ ही लड़कियों को उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करने का भी प्रावधान है।

इस योजना के तहत इंटर पास करने वाली अविवाहित लड़कियों को 10 हजार रुपये और ग्रेजुएट पास लड़कियों को 25 हजार रुपये दिये जायेंगे। नयी योजना में पूरी तरह से महिलाओं को ध्यान में रखते अन्य कई तरह की पहल भी की गयी है।

गुरुवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कैबिनेट की विशेष बैठक में महिलाओं के उत्थान से जुड़े चार अहम निर्णय लिये गये। बैठक के बाद मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना का मकसद यूनिवर्सल कवरेज देना है। यानी जन्म से लेकर स्नातक करने तक समुचित लाभ व सुरक्षा मुहैया करना है।

उन्होंने बताया कि इस योजना को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है। साथ ही तेजाब पीड़ितों को अब बिहार निशक्तता पेंशन योजना का भी लाभ मिलेगा़ साथ ही पोशाक व सेनेटरी पैड की राशि बढ़ा दी गयी है।

मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना में किसी जाति, संप्रदाय और धर्म की कन्या के जन्म लेने पर दो हजार रुपये उसके अभिभावक के बैंक खाते में दिये जायेंगे। ये रुपये अब भी खाते में दिये जाते हैं। इसके अलावा कन्या के एक वर्ष होने पर उसका आधार कार्ड बनवा लेने पर एक हजार रुपये खाते में ट्रांसफर होंगे। बच्ची की उम्र दो वर्ष होने और टीकाकरण पूर्ण करा लेने पर फिर दो हजार रुपये अभिभावक के खाते में चले जायेंगे। इस तरह दो वर्ष होने तक अभिभावक के खाते में पांच हजार रुपये ट्रांसफर हो जायेंगे।

इसके अलावा लड़की अविवाहित रहते हुए इंटर पास कर लेती है, तो उसे 10 हजार रुपये दिये जायेंगे और स्नातक होने पर 25 हजार रुपये मिलेंगे। वर्तमान में लड़कियों के लिए चलने वाली सभी योजनाओं मसलन, साइकिल, पोशाक, छात्रवृत्ति, मेधावृत्ति समेत अन्य सभी योजनाओं के अतिरिक्त यह योजना चलेगी। इसका कार्यान्वयन समाज कल्याण विभाग, शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य विभाग संयुक्त रूप से करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

*