+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

उपचुनाव से पहले जदयू को तगड़ा झटका,विधायक सरफराज आलम ने थामा राजद का दामन

बिहार में उपचुनाव की तिथि की घोषणा होने के बाद चुनाव से पहले जदयू को बड़ा झटका लगा है। जदयू के निलंबित विधायक सरफराज आलम ने शुक्रवार को पार्टी और विधानसभा से इस्तीफा दे दिया और राजद में शामिल हो गए।

सरफराज आलम ने अररिया लोकसभा उपचुनाव लड़ने का स्पष्ट संकेत दे दिया जिसका प्रतिनिधित्व उनके पिता मोहम्मद तस्लीमुद्दीन करते थे। आलम ने विधायक पद से इस्तीफा देने के बाद राजद की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री राबडी देवी से उनके घर जाकर मुलाकात की और उसके बाद राजद के कार्यालय में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी की उपस्थिति में दल की सदस्यता ग्रहण कर ली।

मालूम हो कि बिहार में लोकसभा की एक सीट पर उपचुनाव होना है। इस सीट से पहले राजद नेता स्व. तस्लीमुद्दीन सांसद थे। पिछले दिनों उनका निधन हो जाने के बाद यह सीट खाली है। इस सीट का प्रबल दावेदार तस्लीमुद्दीन के बेटे सरफराज आलम को माना जा रहा था।

सरफराज आलम ने राबड़ी देवी से मिलने के बाद नाटकीय ढंग से अचानक राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी की मौजूदगी में राजद की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण की। उसके बाद उन्होंने कहा कि पूरी सीमांचल की जनता ने हमपर दवाब बना रखा था। मेरे वालिद तस्लीमुद्दीन साहब के इंतकाल के बाद पूरी सीमांचल की जनता और मेरी मां कहने लगी कि जिस पार्टी के तस्लीमुद्दीन साहब फाउंडर थे, उसी में आप चले जाइए। उसी की वजह से मैं अपने पुराने घर में वापस आया हूं।

उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग ने अररिया लोकसभा चुनाव के साथ बिहार में जहानाबाद और भभुआ विधानसभा सीट के लिए चुनाव की अधिसूचना जारी कर दी है। 11 मार्च को अररिया में चुनाव होना है। उस सीट पर पहले राजद नेता तस्लीमुद्दीन सांसद थे और सरफराज आलम तस्लीमुद्दीन के बेटे हैं।

फारबिसगंज के भाजपा विधायक ने कहा कि सरफराज आलम की पहचान बस तस्लीमुद्दीन के बेटे के तौर पर है। वह राजधानी एक्सप्रेस में लड़की छेड़ने के आरोप में जदयू से निष्कासित भी हो चुके हैं।

Related Posts

Leave a Reply

*