+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

चीनियों की तुलना में भारत के लोग आलसी, लेकिन भारत सबसे ज्यादा स्थिर देश: दलाई लामा

तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा ने आज कहा कि भारत के लोग चीनियों की तुलना में आलसी हैं, लेकिन यह देश सबसे ज्यादा स्थिर है और विविध परंपराओं का एक जीवंत उदाहरण है।

कोलकाता में इंडियन चैंबर ऑफ कामर्स द्वारा आयोजित एक संवाद कार्यक्रम में उन्होंने भारत और चीन के लोगों के बीच तुलना की। दलाई ने कहा कि चीनियों की तुलना में, मुझे लगता है कि भारत के लोग आलसी हैं। उन्होंने कहा, यह जलवायु के चलते हो सकता है। लेकिन भारत सबसे ज्यादा स्थिर देश है।

दलाई लामा ने कहा कि विश्व पटल पर भारत कोई भी भूमिका निभा सकता है। उन्होंने धार्मिक सहिष्णुता की भावना और विभिन्न परंपराओं को साथ लेकर चलने को लेकर भारत की सराहना की।

दलाई लामा ने कहा कि धार्मिक सहिष्णुता बहुत महत्वपूर्ण है। हालांकि कभी – कभी नेताओं के चलते समस्याएं आती हैं जो उसे प्रभावित करना चाहते हैं। उन्होंने भारत के धार्मिक बहुलवाद का जिक्र किया और कहा कि पिछली कई सदियों में जैन, हिंदू, बौद्ध, सिख, जरथ्रुष्ट, ईसाई और इस्लाम धर्म सह -अस्तित्व बनाए हुए है।

उन्होंने कहा कि भारत में एक साथ मिलकर रहने की परंपरा है। यह अलग -अलग परंपराओं के साथ चलने का एक जीवंत उदाहरण है। मैं गर्व से तिब्बती संस्कृति के बारे में भी यह कह सकता हूं।

दलाई लामा ने डोकलाम गतिरोध का भी जिक्र किया और कहा कि ये छोटी समस्याएं हैं। चीनी सेना आयी थी। तब वहां संघर्ष विराम था। फिर हट गई। यह आसान नहीं था। उन्होंने हल्के – फुल्के अंदाज में कहा, चीनी अधिकारी बनावटी मुस्कुराहट दिखाने में माहिर हैं।

Related Posts

Leave a Reply

*