+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

डोकलाम से पहले ही भूटान के इन 4 इलाकों में सड़क बना चुका है चीन

चीन और भारत की सेना डोकलाम पठार पर आमने-सामने हैं। लेकिन, चीन की सेना पहले ही बीते कुछ सालों में भूटान के 4 अलग-अलग इलाकों में अतिक्रमण कर चुकी है। इन इलाकों में चीनी सेना ने सड़कों का निर्माण भी किया है। नाम उजागर न करने की शर्त पर थिम्पू स्थित एक एनालिस्ट ने कहा कि यदि डोकलाम मुद्दे का निपटारा हो भी जाता है, तब भी चीनी अतिक्रमण समाप्त नहीं होगा।

उन्होंने कहा, ‘हर बार चीन अपने तरीके से इतिहास को पेश करते हुए हमारे इलाके को अपना हिस्सा बताते हुए दावा जताने लगता है। इसके बाद हमारी सीमा के भीतर सड़क निर्माण जैसे काम शुरू किए जाते हैं। कंस्ट्रक्शन के जरिए वह जमीन पर स्थिति को बदल देते हैं और उसके मुताबिक फिर हमारे इलाके पर अपना दावा पेश करने में जुट जाते हैं।’ चीन के राजदूत लुओ झाहुई ने बीते दिनों अपने थिम्पू दौरे के बारे में विस्तार से जानकारी देने से इनकार कर दिया।

लुओ ने कहा, ‘हम भी चाहते हैं कि सीमा का विवाद जल्दी से जल्दी निपट जाए। हमें बहुत ज्यादा समस्या नहीं है। इस पर बातचीत चल रही है।’ सीमा पर भारत और भूटान के साथ जारी चीन का मौजूदा तनाव भी चीनी सैनिकों की ओर से डोकलाम पठार पर निर्माण किए जाने के बाद ही शुरू हुआ है। इस इलाके पर भूटान और चीन दोनों अपना दावा जता रहे हैं। भूटान की संसद की कार्यवाही पर नजर डालेंगे तो ऐसे कई उद्धरण मिल जाएंगे, जिनमें चीनी सैनिकों की ओर से भूटान के इलाके में अतिक्रमण का जिक्र है।

2009 में भूटान की सरकार ने संसद को बताया था, ‘शाही सरकार ने चीनी सेना की ओर से 2008 में दो बार और 2009 में 5 बार सड़क के निर्माण का विरोध किया है। चीन ने जूरी-फुतेओगैंग रिज पर यह निर्माण किए हैं।’ इसके अलावा भी कई ऐसे उदाहरण हैं, जिनके जरिए पता चलता है कि चीन ने किस तरह भूटान के क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिशें की हैं।

साभार: नवभारत टाइम्स

Related Posts

Leave a Reply

*