+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

तेजस्वी बनेगें मुख्यमंत्री, नीतीश- सुमो जाएंगे जेल: लालू

बिहार के चर्चित सृजन घोटाले के खिलाफ भागलपुर के सैंडिस कंपाउण्ड स्टेडियम में आज राजद की ओर से एक जनसभा आयाेजित की गयी। इस दौरान राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के साथ ही उनके दोनों पुत्र तेजस्वी यादव तथा तेज प्रताप यादव ने मंच से जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार और भाजपा पर जमकर निशाना साधा।

सृजन घोटाले को हथियार बनाकर राजद ने भाजपा-जदयू की नई सियासी दोस्ती पर जमकर प्रहार किया। राजद प्रमुख लालू प्रसाद एवं तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी को सृजन घोटाले का मुख्य संरक्षक बताया और एलान किया कि दोनों को जेल भेजे बिना हम दम नहीं लेंगे।

राजद नेताओं ने दावा किया सृजन मामले में नीतीश-सुमो के खिलाफ उनके पास पर्याप्त सबूत हैं। सुप्रीम कोर्ट से निष्पक्ष जांच के लिए वह जल्द ही आग्र्रह करने वाले हैं।

सभा में नीतीश को सत्ता का लालची बताते हुए लालू सियासी आरोपों की मर्यादा से भी आगे निकल गए। समर्थकों के बीच बेहद आक्रोश में दिख रहे लालू ने अपने विरोधियों पर अमर्यादित और असंवैधानिक आरोप भी लगाए। लालू ने नीतीश पर तीखा प्रहार करते हुए व्यक्तिगत संबंधों को भी घसीटने की कोशिश की।

पिता-पुत्र अपने पूरे भाषण में नीतीश कुमार और सुशील मोदी पर ही ज्यादा हमलावर रहे। अपने करीब एक घंटे के भाषण में तेजस्वी ने मुख्य रूप से नीतीश को ही निशाने पर रखा।

तेजस्वी ने सृजन घोटाले की कहानी सुनाई। इस लड़ाई को पूरे प्रदेश में विस्तार का एलान करते हुए तेजस्वी ने कहा कि 12 सितंबर को सभी जिलों में राजद कार्यकर्ता धरना देंगे। तेजप्रताप ने हरा मुरेठा बांधकर अपने अंदाज में कार्यकर्ताओं से संवाद किया।

राजद प्रमुख ने कहा कि नीतीश को गद्दी का लालच है। घोटाले की जानकारी उन्हें पहले से थी। यदि मीडिया सक्रिय नहीं होता तो इसका खुलासा आसान नहीं होता। नीतीश को पलटूराम बताते हुए लालू ने कहा कि भाजपा को पहले से इस घोटाले में नीतीश के नाम आने की जानकारी थी। भाजपा ने नीतीश को ब्लैकमेल किया और कहा कि यदि साथ नहीं आए तो जेल जाना पड़ेगा।

सभा में लालू ने तेजस्वी के मुख्यमंत्री बनने की भी भविष्यवाणी की और कहा कि वह मुख्यमंत्री बनकर रहेंगे, लेकिन नीतीश की मर्जी से नहीं, जनता के समर्थन से।

लालू ने कहा कि मुझे 20-25 वर्षों से मुकदमा लडऩे की आदत है। ये लोग मुझे डरा नहीं पाए तो मेरे बच्चों के पीछे पड़ गए।

लालू के बड़े पुत्र तेजप्रताप ने अपनी मां राबड़ी देवी को दुर्गा का अवतार बताया और जदयू प्रवक्ता नीरज कुमार को महिषासुर। समर्थकों से कहा कि दुर्गा मां की तरह मेरी मां भी जल्द ही महिषासुर का वध कर देंगी। तेजप्रताप ने नीतीश-सुमो से लेकर आरएसएस और मोहन भागवत तक पर निशाना साधा।

वहीँ सभा को संबोधित करते हुए तेजस्‍वी यादव ने क‍हा कि इस सभा का नाम सृजन के दुर्जनों का विसर्जन रखा गया है। पटना की भाजपा भगाओ देश बचाओ रैली में हमने एलान किया था कि बिहार के हर जिला में जाकर सृजन के दुर्जनों का पर्दाफाश करेंगे। भागलपुर में ही इस घोटाले की शुरूआत हुई है। करीब 2000 करोड़ का घोटाला हुआ है।

आज बिहार की सरकार सत्ता के नशे में अंधी है। नीतीश, सुशील मोदी, शहनवाज, निशिकांत सभी ने मिलकर खजाना लूटा। तेजस्वी तो एक बहाना था, असली मकसद तो बीजेपी की गोद में जाना था। सृजन घोटाले को छुपाना था।

नीतीश कुमार ने जनादेश का अपमान किया है। वे न सिर्फ नैतिक भ्रष्टाचार के पितामह हैं, बल्कि गरीबों को धोखा देने का काम किया है। वित्‍त मंत्री रहते हुए उन्‍हें सब पता था, लेकिन उन्‍होंने न तो दोषियों पर कार्रवाई की और न हीं जांच रिपोर्ट को सार्वजनिक किया। संजीत कुमार के पत्र को मुख्यमंत्री के इशारे पर दबा दिया गया। हर बार घोटाले को उजगार नही होने दिया गया।

पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव ने लालू यादव के अंदाज में मंच से रैली को संबोधित करते हुए नीतीश कुमार और भाजपा पर जमकर निशाना साधा। तेज प्रताप ने कहा, आरएसएस को खत्म करने के लिए डीएसएस बनाया है।

नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए तेज प्रताप ने कहा कि प्रकाश उत्सव के दौरान मेरे पिता जी को नीचे बैठाया गया। सभा को संबोधित करते हुए तेज प्रताप ने आगे कहा कि सृजन घोटाले में शामिल किसी भी आरोपी को हम छोड़ने वाले नहीं है। पूरे बिहार में इसका पर्दाफाश हो रहा है।

रैली में उनके साथ मंच पर राजद के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह समेत पार्टी के अन्य नेता भी मौजूद थे।

Bihar Khoj Khabar
About the Author
Bihar Khoj Khabar is a premier News Portal Website. It contains news of National, International, State Label and lots More..

Related Posts

Leave a Reply

*