+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

नव निर्माण के 9 संकल्पों के साथ कोशी नव निर्माण मंच का कन्वेंशन सम्पन्न

मुरलीगंज, मधेपुरा। कोशी नव निर्माण मंच द्वारा आयोजित “मौजूद समय में कोशी नव निर्माण की चुनौतियां और हमारा दायित्व” विषय पर मुरलीगंज प्रखण्ड के उ0मा0 वि0 रजनी मिलिक में कन्वेंशन, संघर्ष और रचना के आयामों के रास्ते चलते हुए नव निर्माण के 9 संकल्पों के साथ सम्पन्न हुआ।

कन्वेंशन में वक्ताओं ने कोशी क्षेत्र की व्यापक समस्यायों पर गम्भीरता से विमर्श किया, और मंच के स्थापना से अब तक के प्रयासों की संछिप्त चर्चा की गयी। मंच के कार्यो के धीमे विस्तार, कार्यप्रणाली की समीक्ष करने के उपरांत उसके सुधार के उपाय भी रखे गए।
नव निर्माण के 9 संकल्पों को रखते हुए बताया गया कि पर्यावरणीय रूप से संवेदनशील कोशी क्षेत्र में विकास के नाम पर यत्र-तत्र खड़ी संरचनाएं विकास के बजाय विनाश का कारण बनती है इसलिए यहां स्थानीय परिस्थिति और संसाधनों के अनुरूप जन विकास के लिए पहल मिलकर किया जाएगा।

मौसम परिवर्तन की बढ़ती चुनौतियों के बीच प्राकृतिक आपदाओं के बढ़ते खतरो को भांपते हुए आपदा और पुनर्वास के लिए अभियान संचालित किया जाएगा, खेती किसानी के संकट के बरक्स किसानों को कोशी एकता अभियान के माध्यम से संगठित किया जाएगा और रचनात्मक कार्य मे कोऑपरेटिव खड़ा करने पर जोर दिया जाएगा, कोशी अंचल में पलायन करने वाले मजदूरों असंगठित कामगारों की बदहाल स्तिथि के खिलाफ संगठित करने की शुरुआत होगी, महिलाओं को अलग से संगठित करने के लिए अलग टीम बनाई जाएगी। छात्रों व युवाओ जोड़ा जाएगा, समाज मे नफरत फैलाने की चल रहे राजनीतिक षड्यंत्र के खिलाफ “आपसी भाईचारा अभियान” संचालित करने की तरफ बढ़ा जाएगा। सांस्कृतिक टोली खड़ा करने की जरूरत पर जोर दिया गया।

शिक्षा और रोजगार के सवालों को उठाते हुए ज्ञान से वंचितलोगो के लिए कोशी जीवनशालाओ आपदा लोकज्ञानशालाओ के संचालन व अभियान चलाने, नागरिक अधिकार को बताने के लिए हमारा अधिकार अभियान संचालित करने का संकल्प लिया गया। कार्यक्रम में शशि कुमार उर्फ कक्कु जी ने आज की चुनौतियों को अधोरेखित किया। साक्षरता आंदोलन के नेता व BGVS के जिला अध्यक्ष परमानन्द मण्डल, कोशी क्षेत्र की समस्यायों व उसके समाधान के रास्ते पर बात रखी। सामाजिक कार्यकर्ता सनाउल्लाह ने कोशी व समाज मे शोषणकारी बाजार व मुनाफाखोर व्यवस्था पर प्रकाश डाला।

एडवोकेट केशव श्रीहरि ने कोशी तटबन्ध से लेकर पर्यायवर्णीय सवालों को उठाया। इंदजीत और अरुण यादव ने स्थापना से अब तक की संछिप्त गतिविधियों को रखा। पूर्व सरपंच अमोल कुमार आलोक ने संगठन की वर्तमान चुनौतियों और उसे निबटने का प्रस्ताव रखा। बिजेन्द्र ऋषिदेव ने संगठन को जिला से गाँव तक निर्माण का प्रस्ताव रखा। राजू खान ने नव निर्माण के नौ संकल्पों को रखते हुए विस्तार से समझाया। संदीप यादव ने अभी से अक्टूबर तक आयोजित होने वाले कार्यक्रमों को प्रस्तावित किया।

इसके अलावे कैलास शर्मा, विपिन यादव, NAPM के जिला संयोजक रमन सिंह, लखन लाल दास, रामरूप पासवान, चन्द्रकिशोर यादव, देवकी देवी, अवधेश दास, मन्टू यादव, प्रमोद मेहता, रत्तन झा, अनिल दास, बिनेन्द्र मण्डल, अमला देवी, लक्ष्मण ऋषिदेव, त्रिलोक व ने अपनी बातें रखी । नारायण भारती, शम्भू यादव, हंश राज, यशपाल, पीरबत पासवान, विनोद ठाकुर सचित कुमार, उपेन्द्र दास, दिवाकर, अजय ने व्यवस्थपन में सहयोग किया।
कार्यक्रम की शुरुआत श्याम सुन्दरजी के जनवादी गीत से हुआ, विषय प्रवेश मंच के संथापक महेंद्र यादव, अध्यक्षता प्रभात कुमार भारती व संचालन शिवनन्दन मुखिया और दुनिदत्त यादव ने संयुक्त रूप से किया।

सभी लोगों ने सर्व सम्मति से मंच की स्थापना के 10 वर्ष पूरा होने पर 19 से 21 अक्टूबर 2018 तक तीन दिवसीय अधिवेशन आयोजित करने का प्रस्ताव पारित किया। तब तक के लिए संगठन का अध्यक्ष सन्दीप यादव को और उपाध्यक्ष अनिल दास को सर्व सम्मति से चुना गया।

Related Posts

Leave a Reply

*