+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

बीएसएससी पेपर लीक: नीतीश ने कहा दोषियों पर होगी जबरदस्त कार्रवाई

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आदेश पर इंटर टाॅपर घोटाले की तरह बीएसएससी परीक्षा के पेपर लीक मामले में भी पटना के एसएसपी मनु महाराज के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआइटी) गठित कर दिया गया है। आइजी नैयर हसनैन खां व डीआइजी शालीन मॉनीटरिंग करेंगे। इसके अलावा आर्थिक अपराध इकाई ने भी अपने स्तर से जांच शुरू कर दी है।
खबर के मुताबिक आइजी नैयर हसनैन खां ने कहा कि यह स्पष्ट है कि परीक्षा में अनियमितता हुई है। वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि अगर  जांच में इस तरह की कोई बात सही पायी गयी, तो जबरदस्त कार्रवाई होगी।

मालूम हो कि जब टॉपर घोटाले की एसआइटी ने जांच शुरू की, तो बिहार बोर्ड के अध्यक्ष और सचिव ही इसके मास्टरमाइंड निकले थे।

खबर के अनुसार दो चरणों की परीक्षा के पहले जिस प्रकार प्रश्नपत्र और उत्तर ट्विटर और  वाट्सएप पर वायरल हुए, उससे बीएसएससी की काफी किरकिरी हुई है।  मुख्यमंत्री ने इसका संज्ञान लिया है।

सोमवार को लोक संवाद कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा कि गया,  नवादा समेत अन्य जगहों पर बीएसएसी की परीक्षा में गड़बड़ी हुई  है, इसकी प्रारंभिक जानकारी मुझे  मिली है। मैंने इस परीक्षा में हुई गड़बड़ी की गहराई से जांच का निर्देश मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह और डीजीपी  पीके झा को दिया गया है। सारे लोग सचेत हैं। जो बातें अभी  तक सामने आयी हैं, उन पर अभी कुछ कहना  उचित नहीं है। कोई भी व्यू लेने से  पहले पूरे तथ्य की जानकारी और हर पहलू  की जांच आवश्यक है. इसके लिए मुख्य  सचिव व डीजीपी को विस्तृत दिशानिर्देश दिया गया  है। अगर  जांच में इस तरह की कोई बात सही पायी गयी, तो जबरदस्त कार्रवाई होगी।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश के बाद डीजीपी ने एसआइटी का गठन किया, जिसकी अगुआई एसएसपी मनु महाराज करेंगे।  इसमें उनके साथ आठ पुलिस  पदाधिकारियों को भी शामिल किया गया है।

इनमें एएसपी राकेश  दुबे, दानापुर के  एसडीपीओ राजेश कुमार, एसआइयू के इंस्पेक्टर अमलेश कुमार,  अगमकुआं के  थानाध्यक्ष कामख्या नारायण सिंह, एसआइयू के एसआइ विनय कुमार, सुलेमान मुस्तफा, कुमार सौरव और शाहपुर के थानाध्यक्ष विकाश चंद्र यादव शामिल हैं।

पटना  के जोनल आइजी नैयर हसनैन खां ने बताया कि यह स्पष्ट है कि बीएसएससी की  परीक्षा में अनियमितता हुई है। एसआइटी इस बात की जांच करेगी कि कौन-कौन से  गिरोह इस परीक्षा के दौरान सेटिंग या फिर पेपर लीक करने में लगे थे। सभी बिदुओं पर एसआइटी जांच करेगी। वह इसमें शामिल लोगों को तलाशेगी। फिर उन्हें  गिरफ्तार किया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि आयोग ने इंटरस्तरीय करीब 20 हजार पदों के लिए 29 जनवरी और पांच फरवरी को दो चरणों में परीक्षा आयोजित की है। अभी तीन चरणों की परीक्षा बाकी है. दोनों ही चरणों में परीक्षा शुरू होने के पहले ही उत्तर वाइरल हो गये।

दूसरे चरण की परीक्षा के पहले प्रश्न पत्र और आंसर 15 से 20 हजार रुपये तक में बिक्री होने की सूचना मिलती रही. दूसरी ओर आयोग प्रश्न पत्र लीक होने से लगातार इनकार करता आ रहा है।

Bihar Khoj Khabar About Bihar Khoj Khabar
Bihar Khoj Khabar is a premier News Portal Website. It contains news of National, International, State Label and lots More..

Bihar Khoj Khabar
About the Author
Bihar Khoj Khabar is a premier News Portal Website. It contains news of National, International, State Label and lots More..

Related Posts

Leave a Reply

*