+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

भारतीय सेना ने लिया जवान की शहादत का बदला, ढेर किए 10 पाक रेंजर्स

सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने जम्मू-कश्मीर के सांबा सेक्टर में बुधवार को भारतीय सैनिक की शहादत का बदला 24 घंटे के अंदर ही ले लिया। बीएसएफ ने गुरुवार को पाकिस्तान की दो चौकियां उड़ा दीं। सूत्रों के मुताबिक इस कार्रवाई में पाकिस्तान के 12 सैनिक मारे गए हैं।

सैनिक सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तानी सेना इन चौकियों से भारी गोलाबारी कर घुसपैठियों को भारत में घुसाने की कोशिश कर रही थी। बीएसएफ जम्मू फ्रंटियर के महानिरीक्षक राम अवतार ने बताया कि गुरुवार सुबह करीब पौने छह बजे अरनिया सेक्टर में निकोवाल सीमा चौकी के समीप अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जवानों ने दो-तीन लोगों की गतिविधियां देखीं। जवानों ने उन्हें ललकारा तो उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में एक घुसपैठिया मारा गया। मारा गया घुसपैठिया पाकिस्तान के सियालकोट का रहने वाला था।

बीएसएफ के प्रवक्ता ने बताया कि जवानों ने बुधवार रात दो मोर्टार ठिकानों की पहचान की और उन्हें निशाना बनाकर ध्वस्त कर दिया। इन ठिकानों से लगातार गोलाबारी हो रही थी, जिसके बाद जवानों ने करारा जवाब दिया। कार्रवाई में पाकिस्तान की चौकियों, हथियारों को भारी नुकसान पहुंचा है।

सांबा सेक्टर में बुधवार को पाकिस्तानी सेना ने बिना किसी उकसावे के गोलाबारी की थी। इसमें बीएसएफ जवान आरपी हाजरा शहीद हो गए थे। इसके बाद बीएसएफ ने मुंहतोड़ जवाब दिया।
पाकिस्तानी सेना ने बुधवार रात राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास स्थित चौकियों पर भी गोलीबारी की। बीएसएफ के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तान ने पहले छोटे हथियारों से हमला शुरू किया और बाद में उन्होंने रात भर मोर्टार भी दागे। बीएसएफ ने भी इसका जवाब दिया। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर रात भर दोनों ओर से गोलीबारी होती रही।

पाकिस्तान की ओर से लगातार हो रही गोलीबारी को देखते हुए बीएसएफ ने ‘ऑपरेशन अलर्ट’ लांच किया है। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 200 किलोमीटर तक जवानों को ऐसे हमलों से अलर्ट रहने और तत्काल जवाब देने को कहा गया है।

बीएसएफ के महानिरीक्षक राम अवतार ने बताया कि ऐसी जानकारी मिली है कि घने कोहरे का लाभ उठाकर कुछ आतंकी सीमा पार कर सकते हैं। इसके लिए जवानों को अलर्ट कर दिया गया है।

राजौरी में नियंत्रण रेखा पर 23 दिसंबर को सेना के एक मेजर और तीन सैनिक शहीद हो गए थे। दो दिन बाद जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना ने तीन पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया था।

वर्ष 2017 में सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन ऑलआउट के तहत जम्मू और कश्मीर में 206 आतंकवादियों को मार गिराया था।

Related Posts

Leave a Reply

*