+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

राजद विधायक पर अवैध बालू खनन मामले में प्राथमिकी दर्ज, कभी भी हो सकती है गिरफ़्तारी

 

बिहार में नयी सरकार के गठन के साथ ही राज्य के बालू माफिया, खनन माफिया और राजनीतिक संरक्षण प्राप्त माफियाओं पर कानून का डंडा चलने लगा है। इसी क्रम में अवैध बालू खनन के मामले में राजद के विधायक भाई वीरेंद्र का नाम आ रहा है।

खबर के मुताबिक खनन विभाग और पुलिस को इस बात के पुख्ता सबूत मिले हैं कि मनेर के राजद विधायक भाई वीरेंद्र के संरक्षण में अवैध खनन का काम चलता था। पिछले दिन पटना पुलिस ने अवैध खनन के मामले में पांच दर्जन से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया था। पकड़े गये कई लोगों ने भाई वीरेंद्र का नाम लिया है।

रविवार को पुलिस की छापेमारी में गिरफ्तार लोगों से जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की, तो उन्होंने राजद विधायक भाई वीरेंद्र का नाम लिया। उसके बाद सोमवार को भाई वीरेंद्र के खिलाफ मनेर थाने में प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है।

मालूम हो कि रविवार को गिरफ्तार हुए 34 लोगों में से कई लोग ऐसे हैं, जिन्होंने पूछताछ के दौरान विधायक का नाम लिया था। अवैध खनन के गैरकानूनी व्यापार से भाई वीरेंद्र के कई परिजनों के जुड़ने की खबर पुलिस को मिली है। भाई वीरेंद्र का भतीजा सोनू भी इस अवैध उत्खनन के कार्य में लिप्त था।

पुलिस इस मामले में राजधानी पटना के आस-पास के सभी बालू माफियाओं का रिकार्ड खंगाल रही है, जो इस धंधे में हथियार और बाहुबल के साथ मौजूद हैं। पुलिस के मुताबिक बहुत जल्द इस मामले में भाई वीरेंद्र की गिरफ्तारी भी हो सकती है।

उल्लेखनीय है कि उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बालू माफियाओं को लेकर बड़ा खुलासा करने की बात कही है। सुशील मोदी ने बालू माफियाओं को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने की बात कहते हुए, राजनीतिक फंडिंग की भी बात कही थी।

Related Posts

Leave a Reply

*