+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

हिंदुस्तान में योग पर लड़ते रहे, सऊदी अरब में मिली मान्यता

भारत में योग को धर्म से जोड़ कर इस पर खूब सियासत होती रही है। इस बीच सऊदी अरब से खबर आई है कि वहां योग को आधिकारिक मान्यता दे दी गई है और इसे एक खेल के रूप में मान्यता मिली है।

इस बड़ी उपलब्धि के बाद इसके लिए वहां की एक योग शिक्षक नाउफ मारवाई को श्रेय दिया जा रहा है। नाउफ सऊदी अरब की पहली सर्टिफाइड योग शिक्षक हैं और उन्होंने गल्फ देशों में योग के प्रचार के लिए काफी काम किया है। इसके लिए 35 वर्षीय नाउफ को अक्टूबर 2015 में भारतीय काउंसलेट द्वारा उनके इस काम के लिए सम्मानित भी किया गया था।

नाउफ सऊदी की पहली सर्टिफाइड योग और आयुर्वेद एक्सपर्ट हैं जिन्हें 2010 में यह सर्टिफिकेट मिला था। नाउफ, जेद्दाह में स्थित रियाद-चायनीज मेडिकल सेंटर की संस्थापक भी हैं। यह पहला सेंटर है जो यहां वैकल्पिक उपचार उपलब्ध करवा रहा है। नाउफ गल्फ योग गठबंधन की रिजनल डायरेक्टर भी हैं।

नाउफ के लिए योग कोई नई चीज नहीं थी। उनके पिता मोहम्मद ने 1980 से पहले अरब मार्शियल आर्ट फेडरेशन की स्थापना की जिसके चलते नाउफ ने महज 19 साल की उम्र में ही योग करना शुरू कर दिया था। वक्त के साथ उन्हें इस कोशिश में भारतीय योग गुरुओं का भी साथ मिला। हालांकि, संसाधनों और सुविधाओं के अभाव में वो खुद प्रैक्टिस करती रहीं।

मारवाई के अनुसार योग और धर्म के बीच कोई टकराव नहीं है। बता दें कि यह बड़ी उबलब्धि तब सामने आई है जब भारत में ही एक मुस्लिम महिला को योग शिक्षक होने के चलते फतवों और विरोध का सामना करना पड़ा है।

Leave a Reply

*