+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

Cuisine of Bihar : Healthy and Delicious

The cuisine of Bihar, the cradle of Indian civilization, speaks for itself about the history, culture and the special efforts of the local people to have their food as gourmet’s choice. The food matches the geographical condition, rich agriculture, local vegetation and the...

जहां दफन कर दिए गए 282 ‘भारतीय सिपाही’

अमृतसर से चैबीस किलोमीटर दूर अजनाला में तीन दिनों तक चली खुदाई के बाद 1857 की आजादी की पहली लड़ाई के एक महत्वपूर्ण अध्याय का खुलासा हुआ है. एक गुरुद्वारे के नीचे दबे कुएं की खुदाई के बाद सबूत मिले हैं कि 1857 के सैनिक विद्रोह के बाद ब्रिटिश शासकों ने 282 श्भारतीय सैनिकोंश् क...

यादों में खोया हुआ आदमी

इस बात की सराहना की जानी चाहिए कि नक्सलपंथी आन्दोलन के शुरुआती दिनों के बारे में मीडिया की दिलचस्पी बढ़ रही है। दिनांक 7.7.2013 की हिन्दुस्तान टाइम्स में देवज्योति चक्रवर्ती द्वारा लिया गया खोखन मजुमदार का साक्षात्कार इस बात को प्रमाणित करता है। खोखन मजुमदार, जिनका पुश्तैनी...

मंगल सूत्र

(प्रेमचंद का आखिरी उपन्यास, जिसे वे पूरा न कर सके) बड़े बेटे संतकुमार को वकील बना कर, छोटे बेटे साधुकुमार को बी.ए. की डिग्री दिला कर और छोटी लड़की पंकजा के विवाह के लिए स्त्री के हाथों में पाँच हजार रुपए नकद रख कर देवकुमार ने समझ लिया कि वह जीवन के कर्तव्य से मुक्त हो गए और जी...

हड़ताल !

प्राण बाबू उस समय इतने जोश और ख़ुशी में थे कि उन्हें देखकर सभी लोग चकित थे, लोग उनकी हर हरकत और हर बात को चकित हो-होकर देख-सुन रहे थे। किन्तु प्राण बाबू को अपनी अस्वाभाविक हरकतों और बातों का जैसे कोई होश ही न था। वह तो अपनी ही ख़ुशी और जोश में मस्त थे। उनकी कमजोर टाँगों में जा...