+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com

2020 में ही होगा विस चुनाव, नीतीश ने किया खुलासा

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोकसभा चुनाव के साथ बिहार विधानसभा का चुनाव कराने की अटकलों पर विराम लगा दिया है ,रविवार को जदयू की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी नेताओं के सवालों के जवाब में उन्होंने कहा कि यह सवाल ही कहां से आ रहा है? बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर कोई भ्रम में न रहें।

उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने हमें पूरे पांच साल के लिए चुना है, उसमें कोई हस्तक्षेप नहीं होना चाहिए। चुनाव तय समय पर ही होगा। सैद्धांतिक तौर पर हम जरूर इस बात पर सहमत हैं कि लोकसभा और विधानसभा के चुनाव एक साथ हों तो बेहतर है, लेकिन इसके लिए पहले राष्ट्रीय स्तर पर राय बननी है और संवैधानिक व्यवस्था होनी है। कई तरह की प्रक्रियाओं के बाद ही ऐसा संभव होगा।

पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सह राज्यसभा में संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने भी साफ कर दिया कि पार्टी की मान्यता है कि चुनाव के खर्च को कम करने के लिए देश भर में चुनाव साथ होने चाहिए, लेकिन वर्तमान समय में यह संभव नहीं है।

उन्हों कहा कि पिछले साल ही गुजरात-हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव हुए हैं, जबकि फिलहाल नागालैंड-मेघालय में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। ऐसे में 2019 में ही फिर से वहां चुनाव कराना संभव नहीं है। इसलिए बिहार में 2020 में ही विधानसभा का चुनाव होगा।

कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हमने गांधी की राह चुनी है, किसी चीज की हमें चिंता नहीं है। जनता ने हमें सेवा के लिए सत्ता दी है और हम अपना काम पूरी मुस्तैदी से करते रहेंगे।

उन्होंने जदयू के सभी सक्रिय सदस्यों को प्रशिक्षित करने के लिए अब सभी प्रखंडों और पंचायतों में ट्रेनिंग कैंप चलाने का भी निर्देश दिया। फरवरी में जहां सभी प्रखंडों में कैंप लगा कर ट्रेनिंग दी जायेगी, वहीं मार्च में पंचायतों में प्रशिक्षण का काम चलेगा। 14 अलग-अलग विषयों के मास्टर ट्रेनर की पटना में पहले 10 से 13 फरवरी तक ट्रेनिंग होगी और उन्हें ट्रेनिंग के लिए सामग्री दी जायेगी। उसके बाद वे प्रखंडों फिर पंचायतों में सक्रिय कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देंगे। इसके बाद अप्रैल से बूथ मैनेजमेंट के लिए बूथ लेवल एजेंट बनाये जायेंगे और फिर उन्हें प्रशिक्षित किया जायेगा।

Related Posts

Leave a Reply

*