+91 943 029 3163 info@biharkhojkhabar.com
BREAKING NEWS

संपन्न हुआ एक दिवसीय नौ सेना दिवस

बिहार के दानापुर स्थित बी.आर.सी. हाॅल में एक्स नेवी एसोसिएशन की पहल पर ‘नौ सैनिक दिवस’ का आयोजन किया गया। हर साल 4 दिसंबर को आयोजित होनेवाला यह कार्यक्रम 1971 की जंग में भारतीय नौ सेना की पाकिस्तानी सेना से जीत की स्मृति में मनाया जाता है। बिहार के लिए संभवतः यह पहला मौका था जब यहां के पूर्व सैनिकों की पहल पर ‘नौ सेना दिवस’ इतने वृहत स्तर पर मनाया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन पूर्व सैनिक एवं जदयू विधायक विद्यासागर निषाद ने किया। इस मौके पर ज्योतिष गुरु श्रीपति तिवारी, एन.सी.सी. यूनिट के कमांडिंग आफिसर कुमार धीरज, भूतपर्व सैनिक आर.डी सिंह, भूतपूर्व नौसैनिक कमांडो राकेश रंजन, एन.ई.एक्स.सी.सी. के प्रदेश अध्यक्ष अशोक कुमार सिंह एवं भूतपूर्व नौ सैनिक कमलेश कुमार द्विवेदी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम को आगे बढ़ाया।

उद्घाटन के बाद भारत का राष्ट्रगान-‘जन गन मन अधिनायक जय हे भारत भाग्य विधाता’ का गायन किया गया। इसके बाद देशभक्ति से परिपूर्ण गीतों का गायन भी किया गया जिससे पूरा वातावरण देशभक्ति से ओत-प्रोत हो उठा।

जदयू विधायक विद्यासागर निषाद ने कहा कि उन्हें इस बात का फख्र है कि उन्होंने अपने जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा सेना में बिताया। उन्होंने कहा कि इस देश के निर्माण में हमारी सेनाओं ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि उनकी पारिवारिक पृष्ठभूमि राजनीति की रही है लेकिन उन्होंने अपने सेना की नौकरी में कभी भी उसका इस्तेमाल नहीं किया। उन्होंने जोर देकर बाबा साहब आंबेडकर की इस बात को कोट किया कि राजनीति सभी समस्याओं की चाभी है। उन्होंने कहा कि आप में से कोई भी जिसे जब जरूरत पड़े हमें याद करें हम आपकी हर समस्या में आपके साथ हैं।

ज्योतिष गुरु श्रीपति तिवारी ने संस्कृत श्लोकों का पाठ किया। और इस तरह के आयोजन को देशभक्ति का पर्याय बतलाया।

एन.सी.सी. यूनिट के कमांडिंग आफिसर कुमार धीरज ने विस्तार से नौ सेना दिवस मनाए जाने के कारणों का इतिहास बतलाया। उन्होंने कहा कि यह गर्व कि बात है कि आज हम अपने अतीत के इस गौरवपूर्ण इतिहास को याद कर रहे हैं इससे नई पीढ़ी में अपने अतीत को लेकर एक गर्व का भाव पैदा होगा।

भूतपर्व सैनिक आर.डी सिंह ने कहा कि हम पूर्व सैनिकों ने इस तरह के आयोजन के माध्यम से एक जरूरी काम को मूर्त किया है आने वाले दिनों में यह कार्यक्रम और बेहतर रूप में हो इसकी मैं कामना करुंगा।

इस मौके पर सेना के परिजनों में आयी महिलाओं और बच्चों ने समारोह के मंच से नृत्य डांस के माध्यम से माहौल को बहुत ही रोचक और दिलचस्प बना दिया। दो युवा छात्राओं ने इस मौके पर नौ सेना दिवस से संदर्भित प्रहसन का पाठ किया जिसमें सेना की बहादूरी से जुड़े कई संदर्भ अभिव्यक्त हुए। इस समारोह में भूतपूर्व सैनिक कृष्ण कुमार, सुशील कुमार, प्रवीण कुमार और विमलेश कुमार सहित सैकड़ों की संख्या में आए सैनिक एवं उनके परिजनों ने भाग लिया।

रिपोर्ट: कृष्ण कुमार, भूतपूर्व सैनिक नौसेना

Related Posts

Leave a Reply

*